They are holding the breath of the country.

आपकी मुलाकात उन लोगों से करवाना चाहते हैं, जो देश की सांसों की डोर को थामे हुए हैं। लेकिन शायद आपने पहचानते भी नहीं है। आज जब पूरे देश में कोरोनावायरस का संक्रमण इतना तेजी से फैल रहा है तो फिर हमारे फ्रंटलाइन वर्कर आपको स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिए जी जान से जुटे हुए हैं अस्पतालों में।

हम इन तमाम लोगों को धन्यवाद देना चाहते हैं क्योंकि संकट की इस घड़ी में यह सभी लोग अलग-अलग जगह पर अपने अलग-अलग स्थलों पर काम कर रहे हैं लेकिन जिन लोगों के बारे में आप नहीं सोचते वह वो लोग है जो इस समय बिना थके लगातार ऑक्सीजन का निर्माण कर रहे है। ताकि यह अक्सीजन अस्पतालों समय पर पहुंच जाए जिसकी वजह से हजारों लाखों लोगों की जान बचेगी। जब आपको ऑक्सीजन मिलने में देरी हो जाती है तब तक आप सिस्टम को कोसते है।

और कई बार कार्यालय में काम करने वाले लोगों को भी कई बार आप भला बुरा कह देंगे आपको लगेगा कि शायद कोई काम नहीं कर रहा है। जिससे आप अच्छी तरह से सिलेंडर मिल नहीं पा रहे अगर आप कुछ घंटे भी ऑक्सीजन सिलेंडर लेने के लिए लाइन में खड़े रहते हैं तो आपको लगता है कि आप को बहुत मेहनत करनी पड़ रही है लेकिन सोचिए ज लोग घंटो तक लगातार बिना रुके ऑक्सीजन प्लांट में काम कर रहे हैं उन पर क्या बीत रही होगी।

आज हमने देश के अलग-अलग हिस्सों से ऑक्सीजन प्लांट पर एक खास रिपोर्ट आपके लिए तैयार की है जहां काम करने वाले फ्रंटलाइन वर्कर ऑक्सीजन की सप्लाई सुचारू रूप से बनाए रखने के लिए तमाम विपरीत परिस्थितियों में भी लगातार दिन-रात काम कर रहे हैं।

यह लोग पैसे कमाने के लिए यह नहीं कर रहे हैं बल्कि देश के मरीजों के लिए अपनी तकलीफों को भूल कर इस काम में जुटे हुए हैं इसलिए आज इन लोगों को आप सबको एक साथ धन्यवाद देना चाहिए

इस बात में कोई सक नहीं है कि हमारे देश में स्थिति बहुत ही खराब है इस बात में भी कोई सक नहीं है कि लापरवाही वास्तव में हुई है हर जगह लापरवाही हुई है और इस बात में भी कोई सक नहीं है कि शमशान के सामने खड़े होकर वोटिंग करना आज बहुत आसान है। और यह सब आपको दिखाकर आपको डरा देना बहुत आसान है आपको डिप्रेशन में डाल देना बहुत आसान है आपका जीवन अंधकार में होने वाला है और मृत्यु चारों ओर घूम रही है आप को यह विश्वास दिला देना भी यह बहुत आसान है।

लेकिन यह देश के असली आज भी चल रहा है इसलिए टिका हुआ है क्योंकि हमारे देश में आज भी बहुत ज्यादा संख्या अच्छे लोगों की है बुरे लोग भी हैं लापरवाह इंसान भी हैं ऐसे लोग भी हैं जो काले बाजारी करते हैं लेकिन मेहनती लोग भी बड़ी संख्या में हैं।

लोग दिन-रात काम कर रहे हैं ताकि हमारे देश के जो रोगी हैं उन्हें सही समय पर उपचार मिले ऑक्सीजन मिले। इसलिए उनकी प्रशंसा करना भी आवश्यक है और इसीलिए यह कोशिश हम कर रहे हैं आपके लिए।

Show More

Manish

lets make a little change in your life with some good and quality contents.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button